छत्तीसगढ़ परिचय सामान्य ज्ञान 2022 | CG Introduction GK in Hindi

Cg ka Parichay Gk Question Answer

छत्तीसगढ़ सामान्य परिचय 2020-21 | Chhattisgarh GS All in One GK | All Facts About CG

(सामान्य से विशिष्ट तक, छत्तीसगढ़ राज्य का भौगोलिक परिदृश्यः स्थिति तथा विस्तार, धरातल व संरचना, प्राकृतिक विभाजन, जलवायु एवं मिट्टियाँ One Line Gk सामान्य ज्ञान )

  1. छ.ग. राज्य की स्थापना 1 नवम्बर सन् 2000 को हुई।
  2. छ.ग. राज्य का मातृ राज्य मध्यप्रदेश है।
  3. छ.ग. राज्य का निर्माण 84 वॉ संविधान संशोधन के अंतर्गत हुआ है।
  4. छ.ग. राज्य निर्माण के प्रथम स्वप्नदृष्टा पंडित सुंदरलाल शर्मा थे।
  5. छ.ग. राज्य का प्रमुख ध्येय वाक्य सत्य और पारदर्शिता है।
  6. छ.ग. शासन ने विश्वसनीय छत्तीसगढ़ को अपना प्रतीक वाक्य घोषित किया है।
  7. छ.ग. क्षेत्र के मानचित्र का सर्वप्रथम निर्माण सन् 1905 में हुआ था।
  8. छत्तीसगढ़ राज्य की भौगोलिक सीमाएं 6 राज्यों को स्पर्श करती हैं।उत्तर से उ.प्र.व झारखण्ड, पूर्व से उड़ीसा, दक्षिण से आंध्र प्रदेश पश्चिम में म.प्र. एवं महाराष्ट्र है।
  9. छ.ग. राज्य का क्षेत्रफल 1,35,194 वर्ग किमी. है।
  10. छ.ग. राज्य का क्षेत्रफल देश के कुल क्षेत्रफल का 4.11 प्रतिशत है।
  11. क्षेत्रफल के आधार पर छ.ग. राज्य का भारत संघ राज्यों में 10 वाँ स्थान है।
  12. छत्तीसगढ़ राज्य की उत्तर से दक्षिण की लम्बाई 700 किमी. है।
  13. छत्तीसगढ़ राज्य की पूर्व से पश्चिम की लम्बाई 435 किमी. है।
  14. छत्तीसगढ़ राज्य की सर्वाधिक सीमा उड़ीसा राज्य के साथ है।
  15. छ.ग. राज्य की सबसे कम सीमा उत्तरप्रदेश राज्य के साथ है।
  16. उ.प्र. राज्य की सीमा छ.ग. के बलरामपुर जिले के साथ बनती है।
  17. छ.ग. का बलरामपुर जिला सर्वाधिक तीन राज्यों की सीमाओं से घिरा हुआ है।
  18. छत्तीसगढ़ राज्य की जनसंख्या 2 करोड़ 55 लाख 40 हजार 196 है।
  19. छत्तीसगढ़ राज्य की जनसंख्या देश का 2.11 प्रतिशत है।
  20. छत्तीसगढ़ राज्य का लिंगानुपात 991 (प्रति 1000 पुरुषों पर महिलाएँ) है।
  21. छत्तीसगढ़ राज्य की जनसंख्या का घनत्व 189 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी. है।
  22. छत्तीसगढ़ राज्य की साक्षरता दर 71.04 प्रतिशत है।
  23. छ.ग. राज्य चिन्ह में अंकित सारनाथ स्तम्भ लाल रंग का है।
  24. छ.ग. राज्य के राज्य चिन्ह में 36 किले हरे रंग की है।
  25. छ.ग. के राज्य चिन्ह में तीन लहराती रेखाएँ जल संसाधन एवं नदियों का प्रतीक है।
  26. छ.ग. राज्य का राजकीय पशु वन भैसा (Bubalus Bubalis) है।
  27. छ.ग. राज्य की राजकीय पक्षी बस्तरिया पहाड़ी मैना (ग्रेटिपेनिन्सुलेरिस ) है।
  28. छत्तीसगढ़ राज्य का राजकीय वृक्ष साल है।
  29. छत्तीसगढ़ का हृदय स्थल महानदी बेसिन प्राकृतिक प्रदेश को माना जाता है।
  30. छत्तीसगढ़ राज्य में बैकुण्ठपुर कर्क रेखा के सर्वाधिक निकट है।
  31. कर्क रेखा और IMT छ.ग. राज्य के सूरजपुर जिले में क्रॉस होते है।
  32. जैव भौगोलिक दृष्टिकोण से छत्तीसगढ़ राज्य डेक्कन जैव क्षेत्र में शामिल है।
  33. छत्तीसगढ़ राज्य के उत्तर में स्थित पर्वत श्रृंखला विन्ध्याचल है।
  34. मैकाल पर्वत श्रेणी का ढाल पश्चिम से पूर्व की ओर हैं।
  35. छत्तीसगढ़ राज्य का सर्वप्रमुख कछार महानदी कछार है।
  36. छत्तीसगढ़ राज्य के विशाल मैदान की आकृति पंखाकार है।
  37. छत्तीसगढ़ का मैदान’ कड़प्पा शैल समूह चट्टानों का प्रदेश है।
  38. छ.ग. राज्य के मैदान का ढाल पूर्व की ओर है।
  39. दण्डकारण्य के पठार का विस्तार छ.ग. राज्य के 29 प्रतिशत भाग में है।
  40. छत्तीसगढ़ राज्य के सभी प्राकृतिक प्रदेशों में जशपुर-सामरीपाट सबसे ऊँचा है।
  41. पाट प्रदेशों में सबसे बड़ा जशपुर पाट है।
  42. राज्य केराजधानी रायपुर में खोला गया मौसम कार्यालय देश के36 वॉ नंबर का मौसम कार्यालय है 
  43. छ.ग. राज्य में मानसून का प्रवेश सबसे पहले बस्तर क्षेत्र में होता है।
  44. छत्तीसगढ़ राज्य में सर्वाधिक वर्षा अबूझमाड़ क्षेत्र में होती है।
  45. छ.ग. राज्य के प्राकृतिक प्रदेशों में सर्वाधिक औसत वर्षा जशपुर सामरी पाट प्रदेश में होती है।
  46. छ.ग. राज्य में मुख्य रुप से उष्णकटिबंधीय मानसूनी जलवायु पायी जाती है।
  47. छ.ग. राज्य में मुख्यतः बंगाल की खाड़ी के मानसून से वर्षा होती है।
  48. छ.ग. राज्य में प्रतिवर्ष 125-150 सेमी. औसतन वर्षा होती है।
  49. छ.ग. राज्य में प्रतिवर्ष 69 इंच औसतन वर्षा होती है।
  50. छ.ग. राज्य में सर्वाधिक वर्षा दिवस सरगुजा- (83 दिवस) संभाग में होती है।
  51. छ.ग. राज्य में वर्षा का औसत दिवस 67 दिन है।
  52. छ.ग. राज्य की औसत जलवायु ऊष्ण आर्द्र है।
  53. छ.ग. राज्य का औसत तापमान 20 से 35° सेल्सियस है।
  54. छ.ग. राज्य का सबसे गर्म स्थान चाम्पा को माना जाता है।
  55. छ.ग. राज्य का सबसे ठंडा स्थान अंबिकापुर को माना जाता है।
  56. छ.ग. राज्य में मुख्य रुप से 5 प्रकार की मिट्टियाँ पायी जाती है।
  57. छ.ग. राज्य में लाल-पीली मिट्टी का विस्तार सर्वाधिक है।
  58. छ.ग. में लाल-पीली मिट्टी का स्थानीय नाम मटासी है।
  59. छ.ग. के 35 से 36 प्रतिशत क्षेत्र में बलुई मिट्टी का विस्तार है।
  60. छ.ग. राज्य में बलुई मिट्टी का विस्तार द्वितीय स्थान पर है।
  61. बलुई मिट्टी का विस्तार दण्डकारण्य प्रदेश में सर्वाधिक है।
  62. छ.ग. में काली मिट्टी को स्थानीय आधार पर कन्हार नाम दिया गया है।

ये भी पढ़े 

Leave a Comment