head छत्तीसगढ़ समाजसेवी सामान्य ज्ञान Cg General Knowledge

छत्तीसगढ़ समाजसेवी सामान्य ज्ञान Cg General Knowledge

छत्तीसगढ़ समाज सेवा सामान्य ज्ञान

छत्तीसगढ़ का सम्पूर्ण सामान्य ज्ञान Cg Mcq Question Answer in Hindi: Click Now

1. फादर डॉ० अगस्टिन जोसेफ चर्ना कुनेल (जन्म : 6 जून, 1938) : रायपुर प्रदेशीय समाज के अध्यक्ष फादर चर्नाकुनेल ने विकलांगों के प्रशिक्षण एवं पुनर्वास हेतु ‘सेवा निकेतन’ की स्थापना की है। अनेक देशों की यात्रा कर चुके फादर अर्थ नैतिक विकास कार्यक्रम, स्वास्थ्य कार्यक्रम तथा शैक्षणिक कार्यक्रमों में सक्रिय हैं।
2. रावलमल जैन ‘मणि’ (जन्म : 4 जनवरी, 1944) : दैनिक ‘छत्तीसगढ़’ के सम्पादक के रूप में सार्वजनिक जीवन में प्रवेश करने वाले श्री जैन ‘सेठ लच्छीनाथ शान्तिनाथ पारख ट्रस्ट’ के प्रबन्धकीय ट्रस्टी हैं। उन्होंने नगपुरा के जैन धर्मावलम्बियों के तीर्थस्थलों का विकास किया है। इन्हें समाज सेवा हेतु सम्मानित भी किया गया है।
3. कमला कृष्णमूर्ति जनस्वामी (जन्म : 12 जुलाई, 1943) : लायन्स इण्टरनेशनल से सम्बद्ध सुश्री कृष्णमूर्ति साक्षरता, रेडक्रास तथा अन्य संगठनों के माध्यम से समाज-सेवा में संलग्न हैं।
4. धर्मपाल सैनी (जन्म : 30 जून, 1930) : ‘माता रुक्मणी देवी संस्थान’ के सचिव श्री सैनी को उल्लेखनीय रचनात्मक एवं सामाजिक कार्यों में विशिष्ट योगदान हेतु वर्ष 1992 में भारत सरकार द्वारा ‘पद्म श्री’ से विभूषित किया गया है।
5. शान्तिलाल शाह (जन्म : 10 फरवरी, 1928): ‘भारत कृषक समाज’ के क्षेत्रीय अध्यक्ष श्री शाह कृषकों की समस्याओं के निवारण तथा आपात स्थितियों में रेडक्रास के माध्यम से समाज सेवा में सक्रिय है।
6. झूमरलाल टावरी : अंतर्राष्ट्रीय कृषि, गौ एवं पर्यावरणीय संरक्षण संगठन के अध्यक्ष श्री टावरी कथित तीनों ही क्षेत्रों में अपनी सक्रियता से समाज-सेवा में संलग्न हैं। राज्य सरकार द्वारा उन्हें वर्ष 2004 के यति यतनलाल सम्मान से सम्मानित किया गया।
7. बिन्नीबाई सोनकर : 1928 में रायपुर में जन्मी समाजसेवी बिन्नीबाई सोनकर ने अपनी कड़ी मेहनत से एकत्र की गई आय एवं पुश्तैनी सम्पत्ति को बेचकर, अपनी जीवनभर की जमापूंजी का मोह न करते हुए, मानव सेवा और त्याग का एक अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया। PE 8. केयूर भूषण : दुर्ग जिले के ग्राम जांता में 1 मार्च, 1928 को जन्मे केयूर भूषण निरन्तर सत्याग्रही, स्वयंसेवक तथा सामाजिक कार्यकर्ता हैं। उन्हें पण्डित रविशंकर शुक्ल सम्मान 2001 प्रदान किया गया।
9. अरुंधती कुलकर्णी : देश के तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ० ए० पी० जे० अब्दुल कलाम ने 3 दिसम्बर, 2004 को विकलांगों के कल्याण के लिए उत्कृष्ट सेवाओं हेतु कोरबा जिले की श्रीमती अरुंधती कुलकर्णी को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया। पुरस्कारस्वरूप उन्हें 15 हजार रुपए नकद, प्रमाण-पत्र एवं प्रशस्ति-पत्र प्रदान किया गया।
 

Leave a Comment