भारत की जनजातियां सामान्य ज्ञान Tribes of India Gk in Hindi

भारत की जनजातियाँ GK Questions Answers

भूगोल जीके | प्रजाति / जनजातियां जीके Questions 1990 से 2021 पूछे गये प्रश्नों का समावेश
स्त्रोत – सम-सामयिक घटना चक्र GS पूर्वावलोकन 2021

भारत की जनजातियां नोट्स GK 2021-22

**भारतीय संविधान अनुसूचित जनजाति को परिभाषित नहीं करता। संविधान के अनुच्छेद 366 (25) के अनुसार, अनुसूचित जनजाति उन समुदायों को कहा गया है, जो संविधान के अनुच्छेद 342 के तहत अधिसूचित किए गए हों। 

*भारत में जनजातियों के निर्धारण के लिए उनके सांस्कृतिक विशेषीकरण और विभिन्न आवास को आधार बनाया जाता है। 

*जनजातीय क्षेत्रों के अनुसार, देश को सात हिस्सों में बांटा गया है। (1) उत्तरी क्षेत्र, (2) पूर्वोत्तर क्षेत्र, (3) पूर्वी क्षेत्र, (4) मध्य क्षेत्र, (5) पश्चिमी क्षेत्र, (6) दक्षिणी क्षेत्र और (7)द्वीपीय क्षेत्र। 

*भारत में कुल जनसंख्या का 8.6% जनजातियां पाई जाती हैं। इनकी सर्वाधिक जनसंख्या मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा में पाई जाती है।

*वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली तथा पुडुचेरी में जनजातीय समुदाय नहीं पाए जाते हैं। वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार, भारत का सबसे बड़ा जनजातीय समूह भील है, इसकी जनसंख्या 17071049 है। गोंड जनजातीय समूह जनसंख्या (13256928) की दृष्टि से दूसरा बड़ा जनजातीय समूह है। इसी प्रकार तीसरे एवं चौथे नंबर पर क्रमशः संथाल (6,570,807) तथा नेकदा (3,787,639) एवं पांचवें नंबर पर उरांव (3,682,992) जनजातीय समूह हैं।

Tribes of India Gk in Hindi

भारत की प्रमुख जनजातियां

थारू : थारू जनजाति उत्तराखंड के नैनीताल जिले से उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के तराई क्षेत्र एवं बिहार के तराई क्षेत्र में निवास करती है। ये हिंदू धर्म मानते हैं। *थारू जनजाति दीपावली को शोक पर्व के रूप में मनाते हैं। इनमें संयुक्त परिवार की प्रथा है। थारू किरात वंश के माने जाते हैं। थारू जनजाति उत्तराखंड की सबसे बड़ी जनजाति है। भोटिया : यह जनजाति उत्तराखंड की पहाड़ियों में एवं उत्तर प्रदेश के तराई क्षेत्रों में निवास करती है। भोटिया मंगोल प्रजाति के होते हैं।

* भोटिया जनजाति ऋतु प्रवास करती है। *भुटिया जनजाति सिक्किम, पश्चिम बंगाल एवं त्रिपुरा में पाई जाती है।

जौनसारी : जौनसारी उत्तराखंड में स्थायी निवास करने वाली कृषक जनजाति है। यह जनजाति उत्तर प्रदेश में भी पायी जाती है। इनमें ‘बहुपति विवाह प्रथा’ पाई जाती है।

बुक्सा : यह जनजाति उत्तराखंड के नैनीताल, पौड़ी एवं गढ़वाल जिलों में मुख्य रूप से तथा उत्तर प्रदेश के कुछ भागों में पाई जाती है। इन जनजातियों में अनुलोम व प्रतिलोम विवाह प्रचलित है। बुक्सा जनजाति राजपूत वंश से संबंधित है।

राजी : यह जनजाति उत्तराखंड एवं उत्तर प्रदेश में पाई जाती है। स्थानीय रूप में इन्हें बनरौत भी कहा जाता है। इनका धर्म हिंदू है। इन जनजातियों में कृषि की ‘झूमिंग प्रथा’ अति प्रचलित है।

खरवार : खरवार और खैरवार जनजाति उत्तर प्रदेश के देवरिया, बलिया, गाजीपुर, वाराणसी एवं सोनभद्र जिलों में निवास करती है। ये स्वभाव से अत्यंत क्रोधी एवं शारीरिक रूप से मजबूत होते हैं। यह उत्तर प्रदेश की दूसरी बड़ी जनजाति है।

गद्दी : यह जनजाति पश्चिमी हिमालय की धौलाधार श्रेणी जो हिमाचल प्रदेश के कांगडा तथा चंबा आदि जिलों में निवास करती है। धौलाधार श्रेणी में गद्दी जनजाति प्राचीन जनजाति है, जिसकी जनसंख्या 1.5 लाख से अधिक है। गद्दी स्वयं को गढ़वा (राजस्थान) शासकों के वंशज मानते हैं। 

*धौलाधार श्रेणी की मुख्य जनजातियों में गद्दी, लद्दाखी, गुज्जर, mबकरवाल, लाहोली, बारी आदि प्रमुख हैं।

गोंड : ये गोंडवानालैंड के मूल निवासी हैं जिस कारण इन्हें गोंड कहा जाता है। यह जनजातीय समूह बिहार, पश्चिम बंगाल, झारखंड, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, ओडिशा, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश (तेलंगाना सहित) गुजरात में पाई जाती है।  ये लोग मुख्यतः आखेट तथा मछली पर निर्भर हैं। 

*गोंड जनजाति स्थानांतरी कृषि भी करते हैं। गोंड लोग कम वस्त्र पहनते हैं, परंतु स्त्रियों को आभूषण पहनने का बड़ा शौक है। पशुबलि इनकी महत्वपूर्ण प्रथा है। गोंड जनजातीय समूह उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जनजातीय समूह है।

भील : भील शब्द की उत्पत्ति तमिल भाषा के बिल्लुवर शब्द से हुई है जिसका अर्थ होता है धनुषकारी। * यह प्रोटो ऑस्ट्रेलॉयड प्रजाति के है। यह जनजाति भारत के गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र कर्नाटक, त्रिपुरा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना सहित राजस्थान प्रांतों में अधिवासित है। भीलों की संस्कृति में धूमर नृत्य का विशेष महत्व है।

संथाल : ये जनजाति संथाल परगना क्षेत्र के मूल निवासी है। जिस कारण इन्हें संथाल नाम से जाना जाता है। वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार, संथाल लोग बिहार, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल, झारखंड एवं ओडिशा में निवास करते हैं। इनकी शारीरिक रचना द्रविड़ लोगों से मिलती है। इनका मुख्य आहार चावल है।

मुंडा : यह जनजाति झारखंड, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, त्रिपुरा, ओडिशा एवं बिहार राज्यों में निवास करती है। मुंडा जनजाति अनेक त्यौहार मनाती है, जिसमें भागे, फागु, कर्मा, सरहुल और सोहरई, प्रमुख है। सरहुल त्यौहार मार्च अप्रैल माह के दौरान मनाया जाता है। यह एक तरह के फूलों का त्यौहार होता है।

कोरबा : कोरबा जनजाति मुख्यतः झारखंड एवं छत्तीसगढ़ में पाई जाती हैं। यह जनजाति मुख्यतः जंगली कंद-मूल एवं शिकार पर निर्भर है। कुछ कोरबा कृषक भी हैं।

कोल : बिहार, झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश एवं महाराष्ट्र में निवास करने वाली इस जनजाति का प्रमुख व्यवसाय कृषि है।

मंगानियर : राजस्थान के रेगिस्तानों में निवास करने वाली मुस्लिम जनजाति है। यह जनजाति अपनी संगीत परंपरा के लिए विख्यात है। पाकिस्तान के सिंध प्रांत में भी ये काफी संख्या में पाए जाते हैं।

खासी : खासी जनजाति मुख्यतः उत्तरी-पूर्वी राज्यों मेघालय, असम एवं मिजोरम में निवास करती है। यह जनजाति झूमिंग कृषि करती है।

टोडा : यह जनजाति नीलगिरि की पहाड़ियों पर निवास करती है। इन्हें टोडी और टुडा के नाम से भी जाना जाता है। इन लोगों का दावा है कि यह आर्यों के वंशज हैं। इनका मुख्य व्यवसाय पशुचारण है। टोडा जनजाति में बहुपति विवाह प्रथा प्रचलित है।

जारवा : भारत की सर्वाधिक आध जनजाति जारवा है। यह अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह के दक्षिणी अंडमान द्वीप एवं मध्य अंडमान द्वीप पर निवास करती है। इनके आवासीय क्षेत्रों को मानवीय गतिविधियों के लिए निषिद्ध घोषित कर दिया गया था।

*भारत में औंज जनजाति के लोग अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह के लघु अंडमान द्वीप के पश्चिमी हिस्से में अधिवासित हैं। ये नीग्रिटो प्रजाति के हैं। शोम्पेन, सेंटीनेलीज जनजाति भी अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह में पाई जाती हैं। शोम्पेन जनजाति, ग्रेट निकोबार द्वीप में पाई जाती है तथा ये मंगोलाइड प्रजाति के है। सेंटीनेलीज, उत्तरी सेंटीनेल द्वीप में निवास करते हैं। ग्रेट अंडमानी जनजाति अंडमान द्वीप में पाये जाते हैं। 

*नागा जनजाति नगालैंड, मणिपुर व अरुणाचल प्रदेश की जनजाति है। नागा जनजाति झूमिंग कृषि करते हैं तथा अधिकांशतः नग्न अवस्था में पाए जाते हैं। 

*झारखंड की अन्य जनजातियों में उरांव, हो, भूमिज, खडिया, सोरिया, बिरहोर, खोंड, खरवार, असुर, बैगा आदि प्रमुख हैं। राजस्थान की प्रमुख जनजातियों में भील, मीणा, सहरिया, गरासिया, दमोर, पटेलिया आदि प्रमुख हैं। 

*चांग्या तिव्वतीय प्रजातीय समूह की अर्द्ध-खानाबदोश (Semi-nomadic) जाति, जो मुख्यतया लद्दाख (31 अक्टूबर, 2019 से केंद्रशासित प्रदेश) के जास्कर क्षेत्र में पाई जाती है। 

विशेष रूप से कमजोर जनजातीय समूह

भारत में विशेष रूप से कमजोर जनजातीय समूहों की संख्या 75 है। इन्हें  पहले आदिम जनजातीय समूह (PVTG) कहा जाता था। भारत के 18 राज्यों और एक केंद्रशासित प्रदेश अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह में विशेष रूप से कमजोर जनजातीय समूह निवास करते हैं।  इनकी निम्नलिखित  विशेषताएं होती हैं-

  • 1. कृषि-पूर्व स्तर की प्रौद्योगिकी
  • 2. स्थिर अथवा घटती हुई जनसंख्या
  • 3. बहुत ही कम जनसंख्या
  • 4. अर्थव्यवस्था का निर्वाह स्तर

विशेष रूप से कमजोर जनजातीय समूहों की सूची

राज्य/केंद्रशासित प्रदेश आदिम जनजाति
1.आंध्र प्रदेश (तेलंगाना सहित) बोडो गदाबा, बोंडो पोरोजा, चेंचू, डोंगरिया कोंध, गुतोब गदाबा, खोंड पोरोजा, कोलम, कोंडारेड्डी, कोंडा सवरा, कुटिया खोंड, परेंगी पोरोजा, थोटी।
2. बिहार (झारखंड सहित) असुर, बिरहोर, बिरजिया, पहाड़ी खरिया, कोरवा, माल पहाड़िया, सौरिया पहाड़िया परहिया, सवर
3.गुजरात -कथोडी, कोटवालिया, पढार, सिद्दी, कोलघा।
4. कर्नाटक जेनु कुरूबा, कोरगा।
5.केरल चोलनाइकन, कडार, कट्टनायकन, कुरुम्बा,
6.म. प्र. (छत्तीसगढ़ सहित)- अबुझ मारिया, बैगा, भारिया, पहाड़ी कोरबा, कमार, सहारिया, बिरहोर।
7.महाराष्ट्र  -कटकारिया (कठोडिया), कोलम, मारिया गोंड
8. मणिपुर – -मराम नागा
9.ओडिशा  बिरहोर, बोडो, दिदाई, डोंगरिया-खोंड, जुआंग, खरिया, कुटिया कोंध, लनजिया सौरा, लोधा, मनकीदिया, पौड़ी भुईया, सौरा, चुकटिया भूजिया।
10.राजस्थान -सेहरिया।
11. तमिलनाडु  -कटूनायकन, कोटा, कुरूम्बा, इरूलर, पनियन, टोडा।
12. त्रिपुरा -रियांग।
13. उ.प्र.  (उत्तराखंड सहित)-बुक्सा, राजी।
14.पश्चिम बंगाल  -बिरहोर, लोधा, टोटो।
15. अंडमान और निकोबार द्वीप समूह -ग्रेट अंडमानी, जारवा, ओंगे (ओंजे)। सेंटीनेली, शोम्पेन

भारत  जनजातियां GK प्रश्नकोश 1990 से 2021 पूछे गये प्रश्न

भारत जनजातियां GK प्रश्नकोश 1990 से 2021 पूछे गये प्रश्न

1..ये पीले वर्ण के, तिर्यक नेत्र, उठी हुई कपोल अस्थि, छुटपुट केश और मध्यम ऊंचाई वाले व्यक्ति होते हैं।” इसका संदर्भ है– I.A.S. (Pre) 1997

(a) नॉर्डिक आर्यों से

(b) ऑस्ट्रियाई जनों से

(c) नीग्रोसम जनों से

(d) मंगोलायड जनों से

उत्तर-(d)

मंगोलायड लोग उत्तरी-पूर्वी और दक्षिणी पूर्वी एशिया में रहते हैं, जो कि अमेरिका के मूल निवासी थे। इस प्रजाति के लोगों का रंग पीला होता है। इनके शरीर पर बालों की कमी होती है और बाल सीधे होते हैं। इनकी प्रमुख विशेषता इनकी अधखुली आंखों का होना है।

  1. उत्तर-पूर्वी भारत के पहाड़ी एवं जंगली क्षेत्रों में निम्नलिखित में से कौन-सा एक प्रजातीय समूह पाया जाता है? U.P.P.C.S. (Mains) 2003

(a) दिनारिक

(b) मेडिटेरेनियन

(c) मंगोलायड

(d) प्रोटो ऑस्ट्रेलॉयड

उत्तर-(c)

उत्तर-पूर्वी 

भारत के पहाड़ी एवं जंगली क्षेत्रों में मंगोलायड प्रजातीय समूह पाया जाता है।

  1. भारत की निम्नलिखित में से कौन-सी जनजाति प्रोटो-ऑस्ट्रेलॉयड प्रजाति से संबंधित है? U.P.P.S.C.(Pre)2002

(a) इरुला

(b) खासी

(c) संथाल

(d) थारू

उत्तर-(c) संथाल जनजाति प्रोटो-ऑस्ट्रेलॉयड प्रजाति से संबंधित है। 

4.भारत के निम्नलिखित भागों में द्रविड़ियन प्रजाति मुख्यतः कहां संकेंद्रित हैं? 60th to62nd B.P.S.C. (Pre) 2016

(a) दक्षिण भारत

(b) उत्तर-पश्चिमी भारत

(c) उत्तर-पूर्वी भारत

(d) उत्तर भारत

(e) उपरोक्त में से कोई नहीं/ उपरोक्त में से एक से अधिक

उत्तर-(a)

द्रविड़ियन प्रजाति (Dravidian races) मुख्य रूप से भारत के दक्षिणी भाग में संकेंद्रित हैं। ये द्रविड़ भाषा परिवार से संबंधित हैं। इनमें तमिल, कन्नड़, मलयालम, तेलुगू और तुलु प्रमुख हैं। द्रविड़ियन प्रजाति के लोग मध्य भारत तथा दक्षिण-पूर्वी भारत में भी बिखरे हुए हैं।

  1. भारत में जो एकमात्र मानवाभ कपि पाया जाता है, वह है-

(a) हनुमान बंदर 

(b) पश्चिमी घाट सिंह-पुच्छी मकाक

(c) असम का मन्थर लोरीस 

(d) असम का श्वेतभौं गिबन

I.A.S.(Pre) 1991

उत्तर-(d)

उत्तर-पूर्व क्षेत्र में पाया जाने वाला असम का श्वेतभी गिबन भारतीय उपमहाद्वीप क्षेत्र का मानवाभ कपि है।

  1. निम्नलिखित में से किस राज्य में जनजातीय समुदाय की पहचान नहीं की गई है?

(a) महाराष्ट्र

(b) छत्तीसगढ़

(d) कर्नाटक

(c) हरियाणा

(d) कोल

B.P.S.C.56″to 59th (Pre) 2018

उत्तर-(c)

वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली तथा पुडुचेरी में जनजातीय समुदाय की पहचान नहीं की गई है।

  1. कौन-सी जनजाति दीवाली को शोक का त्यौहार मानती है?

(a) खासी

(b) मुंडा

(c) भील

(d) थारू

U.P.R.C.S.(Pre) 2005

उत्तर-(d)  थारू जनजाति दीपावली (दीवाली) को शोक पर्व के रूप में मनाते हैं।

8.निम्नलिखित में से कौन-सी अनुसूचित जनजाति दीपावली को शोक रूप में मनाती है?

(a) सहरिया

(b) बागा

(c) पाहरिया

(d) थारू

U.P.P.C.S.(Mains)2015 

उत्तर-(d)

  1. निम्नलिखित में से किस हिंदू त्यौहार को थारू लोग शोक पर्व के रूप में मनाते हैं?

(a) दशहरा

(b) दीपावली

(d) नागपंचमी

U.P.P.C.S. (Pre)2002

उत्तर-(b)

उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।

(c) होली

  1. भारत के निम्नलिखित में से किन राज्यों में “थारू जनजाति” निवास कर रही है?

(a) बिहार तथा मध्य प्रदेश

(b) झारखंड तथा मध्य प्रदेश

(c) छत्तीसगद तथा हिमाचल प्रदेश 

(d) उत्तराखंड तथा उत्तर प्रदेश

U.P.R.O./A.R.O (Pre) 2017

उत्तर-(d) 2011 की जनगणना के अनुसार, थारू जनजाति उत्तर प्रदेश (105291), उत्तराखंड (91,342) एवं बिहार (159939) में निवास कर रही है। यह उत्तराखंड की सबसे बड़ी तथा उत्तर प्रदेश की तीसरी सबसे बड़ी (गोंड एवं खरवार के बाद) तथा बिहार की भी तीसरी सबसे बड़ी (संथाल एवं गोंड के बाद) जनजाति है।

  1. ‘थारू’ लोगों का निवास कहां है?

(a) अरुणाचल प्रदेश

(b) उत्तर प्रदेश

(c) मध्य प्रदेश

(d) बिहार

U.P.P.C.S.(Pre) 1991

उत्तर-(*) उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।

  1. निम्न में से कौन धौलाधार श्रेणी क्षेत्र की प्रमुख जनजाति है?

U.P.Lower Sub.(Pre) 2001, 2003
CGPSC 2014
MPSC 2011
U.P.U.D.A./L.D.A.(Pre)2002

(a) अबोर

(b) गद्दी

(d) थारू

उत्तर-(b)

धौलाधर श्रेणी की मुख्य जनजातियों में गद्दी, लद्दाखी, गुज्जर, बकरवाल, लाहोली, बारी आदि प्रमुख हैं।

  1. गद्दी (Gaddi) लोग निवासी हैं-
    44th B.P.S.C. (Pre) 2000
    MPPSC 2009

(a) मध्य प्रदेश के

(b) हिमाचल प्रदेश के

Looo (c) अरुणाचल प्रदेश के

(d) मेघालय के

उत्तर-(b) गद्दी जनजाति हिमाचल प्रदेश में निवास करती है।

  1. संथाल निवासी हैं- CGPSC, R.A.S./R.T.S.(Pre) 1995

(a) मध्य भारत के

(b) दक्षिणी भारत के

(c) पश्चिमी भारत के

(d) पूर्वी भारत के

उत्तर-(d) संथाल जनजाति भारत की बड़ी और मुख्य जनजातियों में से एक है। इनका निवास पूर्वी भारत के राज्यों मुख्यतः प. बंगाल, बिहार, झारखंड एवं ओडिशा के साथ त्रिपुरा में है।

  1. निम्नांकित में कौन सुमेलित नहीं है?

(a) भील-गुजरात

(b) जौनसारी-उत्तराखंड

(c) संथाल-छत्तीसगढ़ 

(d) खासी-मेघालय

Uttarakhand P.C.S.(Pre) 2002

उत्तर-(c) उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।

  1. संथालों में विवाह का सबसे सामान्य रूप कौन-सा है?

(a) इतूत

(b) सांगा

(c) निर बलोक

(d) बुपला

Jharkhand P.C.S. (Pre) 2016

उत्तर-(d) संथालों में विवाह को ‘ बापला (बुपला) कहा जाता है। बापला कई प्रकार के होते हैं-जैसे- सदय बापाला, सेता बापला, गोंग बोलो बापला, किरिंग बापला आदि। संथालों में वर पक्ष की ओर से वधू पक्ष को दिया जाने वाला वधू मूल्य पोन’ कहलाता है। शादियां तोड़ी भी जा सकती हैं। इस मामले में स्त्री-पुरुष दोनों को समान अधिकार प्राप्त हैं। “बिटलाहा’ संथाल समाज में सबसे कठोर सजा है। यह एक प्रकार का सामाजिक बहिष्कार है। संथाल गांव (आतो) का प्रधान ‘मांझी’ कहलाता है।

  1. ऋतु प्रवास किया करते हैं-

(a) भूटिया

(b) भुक्सा

(c) जौनसारी

(d) थारू

Uttarakhand P.C.S. (Pre) 2003

U.P.P.C.S. (Pre) 1997

उत्तर-(a) भूटिया जनजाति (सिक्किम) ऋतु प्रवास किया करते हैं।

  1. बोडो निवासी (Inhabitants) हैं-

(a) गारो पहाड़ी के

(b) संथाल परगना के

(c) अमेजन बेसिन के 

(d) मध्य प्रदेश के

43 B.P.S.C.(Pre) 1999

उत्तर-(a) बोडो जनजाति एक नृजातीय और बहुभाषी समुदाय है, जो भारत के  उत्तर-पूर्व की गारो पहाड़ियों में पाई जाती है।

  1. गारो जनजाति है-

(a) असम की

(b) मणिपुर की

(c) मिजोरम की

(d) मेघालय की 

42nd B.P.S.C.(Pre) 1997

उत्तर-(*)

वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार, गारो जनजाति मेघालय, असम एवं  मिजोरम तीनों राज्यों में पाई जाती है। अतः उपर्युक्त में से किसी भी विकल्प का चयन संभव नहीं है।

  1. ‘खासी’ एवं ‘गारो’ भाषा बोलने वाली जनसंख्या पाई जाती है-

(a) मध्य प्रदेश

(b) मेघालय में

(e) त्रिपुरा में

(d) असम में

U.P.P.C.S. (Mains)2002

उत्तर-(*) गारो एवं खासी भाषा बोलने वाली जनसंख्या मेघालय, असम एवं मिजोरम राज्यों में पाई जाती है। अतः किसी भी विकल्प का चयन संभव नहीं है।

  1. निम्नलिखित जनजातियों में से कौन-सी केरल में पाई जाती है?

(a) चंचू

(b) लेप्चा

(c) डफला

(d) डाफर

U.R.U.D.A./L.D.A.(Pre) 2013

उत्तर-(a) लेप्चा जनजाति सिक्किम में, डाफर गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र में तथा डफला अरुणाचल प्रदेश व असम के कुछ भागों में पाई जाती है। चेचू मूलतः आंध्र प्रदेश के नल्लामलाई क्षेत्र की जनजाति है तथा यह केरल के भी कुछ भागों में पाई जाती है।

  1. निम्नलिखित में भारत की सबसे बड़ी जनजाति कौन-सी है।

(a) टोडा

(b) गोंड

(c) भील

(d) गारो

M.P.P.C.S. CGPSC 2011

उत्तर-(b) प्रश्नकाल के दौरान भारत की सबसे बड़ी जनजाति गोंडी की की जनगणना के आंकड़ों के आधार पर भील जनजातीय  जनसंख्या (17,071,049) सर्वाधिक है। गोंड जनजातीय समूह की जा (13,256,928) की दृष्टि से दूसरी बड़ी जनजातीय समूह की

  1. भारत की सर्वाधिक बड़ी जनजाति है-

(a) भील

(b) गोंड

(c) संथाल

(d) थारू

U.P.P.C.S.Pre

उत्तर-(b) Mउपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।

  1. भारत की सबसे बड़ी जनजाति कौन-सी है?
    M.P.P.S.C.2014

(a) गोंड

(c) पनियन

(d) राजी

(b) इरुला

उत्तर-(a) जनसंख्या की दृष्टि से भारत की सबसे बड़ी जनजाति भील  विकल्प में नहीं है। अतः विकल्प (a) सर्वाधिक उपयुक्त है।

  1. टोडा एक जनजाति है, जो निवास करती है- 

(a) अरावली पहाड़ियों पर (b) मध्य प्रदेश में

(c) नीलगिरि की पहाड़ियों पर (d) विध्याचल की पहालिया

U.P.C.S. 

उत्तर-(c) टोडा जनजाति नीलगिरि की पहाड़ियों पर निवास करती है।

  1. निम्नलिखित क्षेत्रों में से कौन ‘टोडा जनजाति’ का मूल निवास
    U.P. Lower Sub.(Pre
    M.P.P.C.S.Pre
    CGPSC 2016

(a) जौनसार पहाड़ियां 

(b) गारो पहाड़ियां

(c) नीलगिरि पहाड़ियां

(d) जयंतिया पहाड़ियां

उत्तर-(c) उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।

  1. ‘अंडी’ और ‘ओपोरतीपि’ नाम से प्रचलित विवाह किस आदिवासी समुदाय से संबंधित है?

(a)-हो 

(b) पहाड़िया 

(c) मुंडा

(b) पहाड़िया

(d) उरांव

Jharkhand P.CS

उत्तर-(a)

‘अंडी’ और ‘ओपोरतीपि’ नाम से प्रचलित विवाह ‘हो’ (Ho) आदिवासी समुदाय से संबंधित है। जहां ‘अंडी’ (Andi) से तात्पर्य वार्ता के द्वारा विवाह, जबकि ओपोरतीपि’ (Oportipi) से तात्पर्य अपहरण के द्वारा विवाह से है।

  1. निम्नलिखित जनजातियों में कौन बहुपति विवाह की प्रथा को मानता है?

(a) कादर

(b) लोढा

(c) मुंडा

(d) टोडा

U.P.P.C.S. (Mains)2005

उत्तर-(d) टोडा जनजाति के लोग बहुपति विवाह की प्रथा को मानते हैं।

  1. ‘सरहुल त्यौहार’ कौन-सी जनजाति मनाते हैं?

(a) उरांव

(b) कमार

(c) बैगा

(d) गोंड

(e) इनमें से कोई नहीं

Chhattisgarh P.C.S. (Pre) 2016

उत्तर-(a) सरहुल त्यौहार, झारखंड क्षेत्र के उरांव, मुंडा और हो जनजातियों द्वारा मनाया जाता है। यह प्रत्येक वर्ष हिंदू कैलेंडर के प्रथम माह ‘चैत्र’ में मनाया जाता है। सरहुल से तात्पर्य वृक्षों की पूजा से है। यह जनजातियों की प्रकृति से समीपता को प्रकट करता है।

  1. एक जनजाति, जो सरहुल त्यौहार मनाती है, वह है-

(a) संथाल

(b) मुंडा

(c) भील

(d) थारू

U.P.P.C.S. (Pre)2005

उत्तर-(b) मुंडा जनजाति अनेक त्यौहार मनाती है, जिसमें भागे, फागु, कर्मा, सरहुल और सोहरई प्रमुख हैं। सरहुल त्यौहार मार्च-अप्रैल माह के दौरान मनाया जाता है।

  1. ‘घुमकरिया’ किस जनजाति की सामाजिक संस्था है?

(a) उरांव

(b) हो

(c) गोंड

(d) कोल

Jharkhand P.C.S. (Pre) 2016

उत्तर-(a)

उरांव जनजाति का युवागृह ‘घुमकरिया’ कहलाता है उरांव जनजाति में समगोत्रीय विवाह निषिद्ध है। उरांव समाज में बाल विवाह की प्रथा नहीं । है। उरांवों में विवाह का सर्वाधिक प्रचलित रूप ‘आयोजित विवाह’ है। इसमें विवाह का प्रस्ताव वर पक्ष के सामने रखा जाता है। इस विवाह में वर पक्ष को वधू-मूल्य देना पड़ता है। उरांव गांव का मुखिया ‘महतो’ कहलाता है। उरांव गांव की पंचायत को ‘पंचोरा’ कहा जाता है। 

  1. उत्तराखंड की सबसे बड़ी अनुसूचित जनजाति है-

(a) भोक्सा

(b) भोटिया

(c) जौनसारी

(d) थारू

U.P.P.C.S.(Pre)2005

उत्तर-(d)

  1. मिजोरम में बस्ती संरूप मुख्यतः कटकों के साथ-साथ ‘रैखिक प्रतिरूप’ का है, क्योंकि- I.A.S.(Pre)1993

(a) घाटियां कटकों की अपेक्षा ठंडी हैं।

(b) कटक शिखरों पर पहुंचना सरल है।

(c) कटक घाटियों की अपेक्षा ठंडे हैं।

(d) घाटियों में सघन वन हैं

उत्तर-(a)

मिजोरम में बस्ती संरूप मुख्यतः कटकों के साथ-साथ ‘रैखिक प्रतिरूप’ का है, क्योंकि घाटियां कटकों की अपेक्षा अधिक ठंडी (विशेषकर mरातों में) हैं।

  1. निम्नलिखित स्थानों में से कहां शोम्पेन जनजाति पाई जाती है? I.A.S. (Pre)2009

(a) नीलगिरि पहाड़ियां

(b) निकोबार द्वीपसमूह

(c) स्पीति घाटी

(d) लक्षद्वीप द्वीपसमूह

उत्तर-(b)

वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार, शोम्पेन जनजाति निकोबार द्वीपसमूह के ग्रेट निकोबार द्वीप में पाई जाती है, तथा ये मंगोलाइड प्रजाति के हैं।

  1. निम्नलिखित केंद्रशासित प्रदेशों में से औंज जनजाति के लोग किसमें रहते हैं?
    Jharkhand P.C.S. (Pre) 2011

(a) अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह

 (b) दादरा और नागर हवेली

(c) दमन और दीव

(d) लक्षद्वीप

Jharkhand P.C.S. (Pre) 2011

उत्तर-(a) औंज जनजाति के लोग अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह के लघु अंडमान द्वीप के पश्चिमी हिस्से में अधिवासित हैं।

  1. जारवा जनजाति के लोग, जो हाल में चर्चा में रहे, कहां के निवासी हैं?
    U.P.P.C.S.(Mains)2013

(a) आंध्र प्रदेश

(b) छत्तीसगढ़

(c) ओडिशा

(d) अंडमान निकोबार

उत्तर-(d)  जारवा जनजाति का निवास अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह के दक्षिणी  अंडमान द्वीप एवं मध्य अंडमान द्वीप में है।

  1. ‘जारवा जनजाति’ पाई जाती है-

(a)अरुणाचल प्रदेश

(b) मेघालय

(c) मिजोरम

(d) सिक्किम

(e) निकोबार द्वीप

Chhattisgarh P.C.S. (Pre) 2016 + mppsc 2019

उत्तर-(e) जारवा जनजाति अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह की एक प्रमुख जनजाति mहै। यह जनजाति दक्षिण एवं मध्य अंडमान द्वीपों के पश्चिमी तटों पर पाई जाती है। इनके संरक्षण के लिए सरकार द्वारा जारवा संरक्षित क्षेत्र का निर्माण किया गया है, जो कि वर्तमान में 1028 वर्ग किमी. क्षेत्र में विस्तृत है।

  1. भारत की सर्वाधिक आद्य जनजाति है-

(a) गोंड

(b) जारवा

(c) जुआंग

(d) लेप्चा

U.P.P.C.S. (Mains)2010

उत्तर-(b)

दिए गए विकल्पों में भारत की सर्वाधिक आद्य जनजाति जारवा है।

  1. निम्नलिखित में से कौन एक सुमेलित नहीं है?

(a) शेरपा नेपाल

(b) थारू-उत्तराखंड

(c) टोडा-दक्षिण भारत 

(d) जुलू ओडिशा

Uttarakhand P.C.S. (Pre) 2002

उत्तर-(d)

जुलू भारत के ओडिशा में नहीं बल्कि दक्षिण अफ्रीका में निवास करने mवाली जनजाति है। अन्य सभी प्रश्नगत युग्म सुमेलित हैं।

  1. टोडा’ जनजाति मुख्यतः निवास करता है- Jharkhand P.C.S. (Mains), 2016

(a) असम में

(b) जम्मू कश्मीर में

(c) तमिलनाडु में

(d) राजस्थान में

उत्तर-(c)

  1. भील जाति कहां पाई जाती है? 48th to 52nd B.P.S.C.(Pre) 2008 + cg vyapam 2017

(a) असम

(b) झारखंड

(c) पश्चिम बंगाल

(d) महाराष्ट्र

उत्तर-(d)

भील जनजाति भारत के गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश (तेलंगाना सहित) कर्नाटक, त्रिपुरा एवं राजस्थान प्रांतों में अधिवासित है।

  1. भारत में जनजातियों के निर्धारण का क्या आधार है? U.P.P.C.S. (Pre)1992

(a) सांस्कृतिक विशेषीकरण और विभिन्न आवास

(b) भाषा और बोली

(c) सामाजिक रीति-रिवाज की विभिन्नताएं

(d) आर्थिक स्तर

उत्तर-(a) भारत में जनजातियों के निर्धारण के लिए उनके सांस्कृतिक विशेषीकरण mऔर विभिन्न आवास को आधार बनाया जाता है।

  1. किस जनजाति में रसोईघर जिसे “लालबंगला” कहते हैं, पाया जाता है?
    Chhattisgarh P.C.S. (Pre) 2019

(a) कमार

(b) भुंजिया 

(c) हल्बा 

(d) गोंड

उत्तर-(b)

भुंजिया जनजाति में रसोईघर को लालबंगला कहा जाता है। यह रसोईघर लाल मिट्टी से बनाया जाता है तथा इसके लाल रंग के कारण इसे लालबंगला कहा जाता है।

  1. किस जनजाति की आजीविका पारंपरिक रूप से “बांस” पर आधारित है?

(a) बिंझवार

(b) कंवर

(c) कमार 

(d) सवरा

Chhattisgarh P.C.S. (Pre) 2019

उत्तर-(c) कमार जनजाति की आजीविका पारंपरिक रूप से बांस पर आधारित है। ये बॉस से निर्मित हस्तशिल्पों का विक्रय कर अपनी आवश्यकताएं पूर्ण करते हैं।

  1. किस विशेष पिछड़ी जनजाति की जनसंख्या छत्तीसगढ़ में सर्वाधिक है? Mppsc 2020

(a) अबुझमाड़िया

(b) कमार

(c) बैगा

(d) पहाड़ी कोरवा

उत्तर-(c)

Chhattisgarh P.C.S. (Pre) 2019

छत्तीसगढ़ के आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग के | आधिकारिक वेबसाइट में उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार (जनगणना 2005- 106) बैगा सबसे बड़ी जनजाति है।

  1. “बिलमा नृत्य” किस जनजाति द्वारा किया जाता है? Chhattisgarh P.C.S. (Pre) 2019
  2. a) बैगा 

(b) उरांव

(c) माड़िया

(d) कमार

उत्तर-(a) बिलमा नृत्य, बैगा जनजाति द्वारा किया जाता है।

  1. गोदना गोदने वाली अनुसूचित जनजाति कौन है? CGPSC 2020

(a) ओझा

(b) गदबा

(d) खरिया

(c) नगेसिया

उत्तर-(a)  ओझा जनजाति को गोदना (tatto) गोदने वाली अनुसूचित जनजाति के रूप में जाना जाता है।

  1. निम्नलिखित में से जनजाति और राज्य की कौन-सी जोड़ी सही नहीं है?
    B.P.S.C.(Pre)2019 + MPPSC 2020

(a) भील – गुजरात

(b) गद्दी-हिमाचल प्रदेश

(c) कोटा – तमिलनाडु

(d) टोडा- केरल

(e) उपर्युक्त में से कोई नहीं/ उपर्युक्त में से एक से अधिक

 उत्तर-(d)

दिए गए विकल्प के अनुसार –

(a) भील – गुजरात, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, राजस्थान इत्यादि

(b) गद्दी – हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर

(c) कोटा – तमिलनाडु

(d) टोडा – तमिलनाडु

अतः टोडा तमिलनाड की जनजाति है।

  1. मंगानियार के नाम से जाना जाने वाला लोगों का समुदाय-
    I.A.S. (Pre) 2014+ CGPSC 2017

(a) पूर्वोत्तर भारत में अपनी मार्शल कलाओं के लिए विख्यात है।

(b) पश्चिमात्तर भारत में अपनी संगीत परंपरा के लिए विख्यात है।

(c) दक्षिण भारत में अपने शास्त्रीय गायन-संगीत के लिए विख्यात है।

(d) मध्य भारत में पच्चीकारी परंपरा के लिए विख्यात है।

उत्तर-(b) 

मंगानियार राजस्थान के रेगिस्तानों में निवास करने वाला मुस्लिम समुदाय है, जो अपनी संगीत परंपरा के लिए विख्यात है।

  1. निम्नलिखित में से कौन आदिम जनजाति है?
    Jharkhand P.C.S. (Pre) 2016 + M.P.S.C. 2020

(a)कवर

(b) कोरा

(c) करमाली

(d) कोरवा

उत्तर-(d)

झारखंड की 32 जनजातियों में से आठ जनजातियां आदिम जनजाति समूह (Primitive Tribe Groups) में आती हैं। इनमें असुर, बिरहोर, बिराजिया, कोरवा, परहिया (बैगा), सबर, माल पहरिया और सौरिया Mपहरिया शामिल हैं। झारखंड की कुल जनसंख्या का 27 प्रतिशत भाग Mजनजातियों का है। वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार, आदिम जनजातियों की जनसंख्या 2.23 लाख है।

  1. झूमिंग करते हैं-
    U.P.P.C.S.(Pre) 2010+ CGPSC 2019 + JPSC 2016

(a) भोटिया

(c) संथाल

(b) खासी

(d) टोडा

उत्तर-(b) 

खासी जनजाति द्वारा व्यापक स्तर पर झूमिंग (Jhum Cultivation), जो Mएक प्रकार की स्थानांतरित कृषि है, की जाती है।

  1. ‘कत्था’ बनाने वाली अनुसूचित जनजाति कौन है?
    Chhattisgarh P.C.S. (Pre) 2016 + CG VYAPAM + 2017

(a) बिंझवार

(b)धनवार

(c) खैरवार

(d) मझवार

उत्तर-(c)

कत्था (Catechu) बनाने वाली अनुसूचित जनजाति खैरवार है। चूंकि Mकत्था को ‘खैर’ भी कहा जाता है, इसलिए माना जाता है कि इसी के नाम पर इस जनजाति का नाम खैरवार पड़ा।

  1. ‘कुडुख’ बोली कौन बोलते हैं?
    Chhattisgarh P.C.S. (Pre), 2013

(a) कमार

(b) कोल 

(c) उरांव

(d) गोंड

उत्तर-(c)

उरांव जनजाति कुडुख बोली बोलते हैं। कुडुख, द्रविड़ परिवार की बोली है M(b) केरल

  1. कौन-से राज्य में हलाम, नोटिया जनजाति मुख्य रूप से पाए जाते हैं।
    Chhattisgarh P.S.C. (Pre), 2011

(a) महाराष्ट्र

(c) त्रिपुरा

(d) छत्तीसगढ़

उत्तर-(c)

त्रिपुरा राज्य में हलाम, नोटिया जनजाति मुख्य रूप से पाए जाते हैं।

आदिम जनजाति कोरकू मध्यप्रदेश के किन जिलों में मुख्यतः पाई जाती हैं MPPCS 1995

Correct! Wrong!

भारत में जनजातियों के निर्धारण का क्या आधार है UPPCS 2004

Correct! Wrong!

टोडा एक जनजाति है जो निवास करती है

Correct! Wrong!

किस जनजाति का एकमात्र अस्तित्व केवल झारखंड में है JHK PCS 1996

Correct! Wrong!

निम्नलिखित में से कौन सी जनजाति उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड से संबंधित हैं

Correct! Wrong!

निम्नलिखित में से कौन सी जनजाति मध्यप्रदेश में हैं CG PCS 2011

Correct! Wrong!

भील जनजाति भारत में सबसे अधिक पाई जाती हैं UPPCS 2015

Correct! Wrong!

निम्नलिखित में से कौन देहरादून जनपद में अधिक संख्या है

Correct! Wrong!

भारत की निम्नलिखित में से कौन सी जनजाति प्रोटो आस्ट्रेलायड प्रजाति से संबंधित है IAS 1997

Correct! Wrong!

संख्या की दृष्टि से झारखंड की सबसे बड़ी जनजाति हैं

Correct! Wrong!

निम्नलिखित में से कौन सी जनजाति छत्तीसगढ़ में नहीं पाई जाती है CG PCS 2013

Correct! Wrong!

मध्यप्रदेश में निम्नलिखित में से कौन सी अनुसूचित जनजाति पाई जाती हैं MP PCS 2004

Correct! Wrong!

निम्नलिखित स्थानों में से कहां शोम्पेन जनजाति पाई जाती हैं Raj. PCS 2003

Correct! Wrong!

उत्तराखंड की किस जनजाति द्वारा ऋतु प्रवास किया जाता है UKPCS,2002

Correct! Wrong!

निम्नलिखित में से किस राज्य में जनजातीय समुदाय की पहचान नहीं की गई है MP PCS 2015

Correct! Wrong!

निम्नलिखित उत्तर प्रदेश के जनपदों में भोक्स जनजाति कहां पाई जाती UPPCS,2014

Correct! Wrong!

छत्तीसगढ़ में सबसे अधिक जनसंख्या किस आदिवासी समूह की है UK PCS,2006

Correct! Wrong!

निम्नलिखित में से कौन सी जनजाति उत्तराखंड में नहीं पाई जाती है UK PCS 2010

Correct! Wrong!

निम्नलिखित में से कौन सी जनजाति मध्यप्रदेश में हैं CG PCS 2011

Correct! Wrong!

निम्न में से कौन धौलाधार श्रेणी क्षेत्र की प्रमुख जनजाति है UPPCS 2005

Correct! Wrong!

यूथसेन नामक एक सर्प को देवता के रूप में किस जनजाति द्वारा पूजा जाता है

Correct! Wrong!

डब्ला जनजाति का संबंध किस राज्य से हैं

Correct! Wrong!

भारत में किसी आदिवासियों के मसीहा की उपमा प्रदान की गई है

Correct! Wrong!

भारतीय संविधान के किस अनुच्छेद का संबंध अनुसूचित जनजातियों से हैं

Correct! Wrong!

भारत में पाई जाने वाली वह कौन सी जनजाति है जिसका नामकरण एक वृक्ष के नाम पर हुआ है

Correct! Wrong!

निम्नलिखित क्षेत्रों में से कौन टोडा जनजाति का मूल निवास क्षेत्र हैं IAS 1999

Correct! Wrong!

1 thought on “भारत की जनजातियां सामान्य ज्ञान Tribes of India Gk in Hindi”

Leave a Comment